सक्ति जिले में दिन दहाड़े रेत खनन उगाही का खेल जारी, प्रशासन को देना होगा विशेष ध्यान - Samachar Meri Pehchansamacharmeripehchan.com

प्रति ट्रैक्टर रॉयल्टी के नाम पर 300 रुपए की होती है उगाही

पत्रकार संतोष साहू सक्ती – जिला बनने के बाद प्रशासनिक कसावट की उम्मीदें की जा रही थी.. प्रदेश में भाजपा सरकार आने के बाद माफियाओं पर कार्यवाही की सुगबुगुहाट भी देखी गई, लेकीन सक्ति जिले मे रेत माफियाओं पर प्रशासन का डर दूर दूर तक नजर नहीं आ रहा है , यही वजह है कि बंद रेत घाटों से अवैध उत्खनन के साथ रेत परिवहन कर रहे ट्रैक्टर वालों से प्रति ट्रैक्टर 300 रुपए की धड़ल्ले से उगाही हो रही है , रेत माफिया बिना रायल्टी के रेत बेचकर शासन को राजस्व का चूना लगा रहे हैं।

रॉयल्टी के नाम पर कर रहा दिन दहाड़े उगाही , प्रशासन पर उठे सवाल ?

सक्ती जिले के हसौद तहसील से महज कुछ किलोमीटर दूर बेरकेल डोटमा के किनारे महानदी से रेत का अवैध कारोबार किया जा रहा है , मौके पर जब हमारी टीम पहुंची तो रेत परिवहन कर रहे ट्रैक्टर चालक ने बताया की हसौद का युवक जो किसी पेपर का हाकर है सुबह से ही नदी किनारे बैठ कर पुलिस और प्रशासन का धौंस दिखाकर प्रति ट्रिप ट्रैक्टर चालकों से 300 रूपए की अवैध उगाही करता है , औसतन घाट से प्रतिदिन 100 ट्रिप रेत निकाले जा रहे हैं , लगभग रोजाना 30 हजार की उगाही को अंजाम दिया जा रहा है, ऐसे में सवाल उठते है की दिन दहाड़े इस तरह के लूट का खेल आख़िर किसके सह मे हो रहा है ।

परिवहन पर कार्यवाही की औपचारिकता, देना पड़ेगा टीम को ध्यान

खनिज उड़नदस्ता के द्वारा परिवहन में लगे वाहनों को जब्त कर कार्रवाई की औपचारिकता निभाई जा रही है। जबकि रेत घाटों में उत्खनन में लगे वाहनों पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। जिले के महानदी सहित अन्य सहायक नदियों के रेत घाटों को रेत खनन के लिए ठेका में दिया गया था। मगर रेत घाटों का अक्टूबर महीने से समाप्त हो चुका है। अभी नया ठेका के लिए टेंडर भी नहीं निकाला गया है। ऐसे में बंद घाटों से माफियाओं के द्वारा रेत का अवैध उत्खनन किया जा रहा है। नदियों का सीना चीरकर रेत माफिया बिना रायल्टी के रेत खनन कर सरकार को करोड़ों रुपये का चूना लगा चुके हैं और यह खेल अनवरत जारी है। जिले में रेत माफिया जिला प्रशासन के अधिकारियों पर भारी पड़ रहे हैं। अवैध खनन और परिवहन के खिलाफ कार्रवाई केवल दिखावे के लिए की जा रही है। जिसके कारण बेखौफ होकर रेत माफिया खनन और ट्रांसपोर्टर परिवहन कर रहे हैं।

कलेक्टर के निर्देश के बाद पिछले दिनों परिवहन में लगे ट्रैक्टर और हाइवा को जब्त कर कार्रवाई की औपचारिकता निभाई गई थी। ऐसे में अधिकारियों द्वारा कार्रवाई को लेकर दोहरा मापदंड अपनाया जा रहा है। उत्खनन करने वाले माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने में अधिकारियों के हाथ कांप रहे हैं। रेत माफिया यदि बिना रायल्टी के नदी से उत्खनन कर रेते बेचेंगे ही नहीं तो परिवहन भी नहीं होगा।

तहसीलदार ने कहा जानकारी मिली है कार्यवाही करेंगे

पूरे मामले पर हसौद तहसीलदार भीष्म पटेल ने कहा की आपके माध्यम से जानकारी मिली है , अवैध उत्खनन व उगाही करने वालों पर कठोर कार्यवाही किया जाएगा । महानदी से अवैध उत्खनन रोकने पूरी कोशिश की जायेगी ।थाना प्रभारी कृष्णचंद ने कहा कि अवैध उगाही करने की जानकारी नहीं है , आपके माध्यम से जानकारी मिली है , उगाही करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी।

Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Skip to content