पत्नी को था रील बनाने का शौक, पति ने मना किया तो पत्नि ने कर ली फांसी लगाकर आत्महत्या - Samacahr Meri Pehchansamacharmeripehchan.com

छत्तीसगढ़ के भिलाई में एक महिला ने मौत को गले लगा लिया। महिला की आत्महत्या करने की वजह यह थी की उसका पति उसे रील बनाने नहीं दे रहा था। 

ब्यूरो रिपोर्ट दुर्ग भिलाई के सुपेला थाना इलाके में एक महिला ने सिर्फ इसलिए फांसी लगा ली, क्योंकि उसके पति ने मोबाइल छीन कर रख लिया था। मोहल्ले के लोगों ने पुलिस के पहुंचने से पहले ही महिला के शव को फंदे से नीचे उतारा। बाद में पुलिस ने कमरे को सील कर शव को पीएम के लिए लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल भेजा।सुपेला पुलिस के मुताबिक उन्हें शुक्रवार शाम सूचना मिली थी कि पांच रास्ता सुपेला में किसी महिला ने घर पर फांसी लगा ली है। पुलिस मौके पर पहुंची तो पता चला कि वहां टाइल्स का काम करने वाले मिस्त्री भूपेंद्र साहू की पत्नी रचना साहू ने फांसी लगाकर खुदकुशी की है।

पति ने सुबह ही मोबाइल छीना, पत्नि ने शाम को दे दी अपनी जान

रचना के पति भूपेन्द्र साहू बताया कि उसकी शादी 6 साल पहले हुई थी। 5 साल की दोनों की एक बेटी भी है। शुक्रवार दोपहर को उसने रचना का मोबाइल छीनकर अपने पास रख लिया और घर से बाहर चला गया था। घर में केवल मां, भाभी और उनके बच्चे थे। करीब 4 घंटे बाद शाम 7 बजे घर से फोन आया कि रचना ने फांसी लगा ली है। जब भूपेंद्र घर पहुंचा तो उसके सामने पत्नी रचना का शव पड़ा हुआ था। उसके गले में साड़ी का फंदा पड़ा हुआ था।

पति का कहना है कि – मेरी पत्नी दिन भर मोबाइल पर लगी रहती थी 

भूपेंद्र साहू ने बताया कि मेरी पत्नी रचना साहू दिन भर मोबाइल फोन पर लगी रहती थी। घर का काम और बच्ची को देखना छोड़ वो फोन पर रील्स, इंस्टाग्राम और फेसबुक वीडियो बनाने और पोस्ट डालने में ही लगी रहती थी। उसने कई बार मोबाइल कम इस्तेमाल करने को कहा था। इसे लेकर दोनों के बीच अक्सर झगड़े होते थे। जब रचना नहीं मानी तो गुस्से में आकर भूपेंद्र ने उसका फोन ही छीनकर अपने पास रख लिया। इससे नाराज होकर रचना ने आत्मघाती कदम उठा लिया।

मां ने अपनी बच्ची को दूसरे कमरे में बंद कर लगाई फांसी

वहीं रचना साहू अपने पति के साथ घर की दूसरी मंजिल में रहती थी। नीचे सास और जेठ का परिवार रहता था। शुक्रवार शाम को घर में केवल रचना की सास, जेठानी और उनके बच्चे ही थे। रचना अपनी बच्ची को लेकर ऊपर कमरे में गई, जहां बच्ची को बंद कर खुद दूसरे कमरे में चली गई।

इसके बाद साड़ी का फंदा बनाकर पंखे से झूल गई। इसी दौरान जब बच्ची रोई तो सास और जेठानी ऊपर पहुंचीं तो देखा कि वो फंदे पर लटकी हुई है। इसके बाद दोनों ने शोर मचाया तो मोहल्ले के लोग पहुंचे और उसे फंदे से नीचे उतारा, लेकिन तब तक उसकी मौत हो गई थी।

Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Skip to content